अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत का अर्थ और वाक्य प्रयोग

(A) आवश्यकता अधिक, वस्तु कम
(B) पहले से ही दोष होने पर दूसरा दोष भी आ मिलना
(C) एक काम को करते समय दूसरा काम भी हो जाना
(D) अवसर निकल जाने पर पछताना व्यर्थ है

Answer : अवसर निकल जाने पर पछताना व्यर्थ है
Explanation : अब पछताए होत क्या जब चिड़िया चुग गई खेत का अर्थ 'अवसर निकल जाने पर पछताना व्यर्थ है' होता है। वाक्य प्रयोग — पहले तो परिश्रम नहीं किया, अब अनुत्तीर्ण होने पर रो रहे हो। अब पछताए होत क्या जब चिड़ियां चुग गईं खेत। लोक अथवा समाज में प्रचलित उक्ति को लोकोक्ति कहते हैं। इन्हें कहावतें भी कहा जाता है। लोकोक्ति का अर्थ सीधा और सरल होता है। ये लोक-जीवन के संचित अनुभव को प्रकट करती हैं। मुहावरे व लोकोक्ति में अंतर : मुहावरा अधिकांशत: वाक्य में प्रयुक्त क्रिया पद होता है।
Tags : लोकोक्तियां, सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Ab Pachhtaye Hot Kya Jab Chidiya Chug Gayi Khet Ka Arth