अमीर-ए-सादो की नियुक्ति करने वाला प्रथम सुल्तान कौन था?

(A) अलाउद्दीन खिलजी
(B) गियासुद्दीन तुगलक
(C) मोहम्मद बिन तुगलक
(D) फिरोज शाह तुगलक

Question Asked : [UPPCS (Pre) GS Ist History 2007,2008]
Answer : मोहम्मद बिन तुगलक
मुहम्मद बिन तुगलक की विदेश नीति का आधार मैत्री और सद्भभावना थी। उसने फारस, खुरासान, गजनी, बुखारा तथा मध्य एशिया के आये अनेक विद्वानों तथा अमीरों को आश्रय प्रदान किया तथा उनकी योग्यता के अनुरूप उन्हें ऊंचे पद प्रदान किये। इब्नबतूता के अनुसार 'वह विदेशियों का बड़ा सम्मान करता था तथा राजाज्ञा द्वारा भारत आने वाले सभी विदेशियों को 'अजीज' की उपाधि दे रखी थी। इन्हीं विदेशी अमीरों को 'आमीर-ए-सादा' की उपाधि दे रखी थी। इन्हीं विदेशी अमीरों को 'आमीर-ए-सादा' कहा जाता था। आगे चलकर इन लोगों ने सुल्तान के विरुद्ध विद्रोह करना आरंभ कर दिया। फलस्वरूप मुहम्मद बिन तुगलक ने इनका कठोरता पूर्वक दमन कर दिया।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Amir E Sado Ki Niyukti Karne Wala Pratham Sultan Kaun Tha