अंतरिम बजट और लेखानुदान में अंतर क्या है?

(A) लेखानुदान सरकार के बजट के व्यय पक्ष मात्र से संबंद्ध होता है जबकि अंतरिम बजट में व्यय तथा आवर्ती दोनों सम्मिलित होता है।
(B) स्थायी सरकार लेखानुदान के प्रावधान का प्रयोग करती है जब​कि कार्यवाहक सरकार अंतरिम बजट के प्रावधान का प्रयोग करती है।
(C) A और B दोनों
(D) न तो A और न B

Answer : लेखानुदान सरकार के बजट के व्यय पक्ष मात्र से संबंद्ध होता है जबकि अंतरिम बजट में व्यय तथा आवर्ती दोनों सम्मिलित होता है।
Explanation : बजट पर संसद में चर्चा एवं मतदान होने से पूर्व नए वित्त वर्ष का प्रारंभ हो जाने की ​स्थिति में, वित्तीय संसाधनों के लिए संचित निधि से धन निकालने हेतु लेखानुदान संसद में पारित कराया जाता है। यह सरकार के बजट के व्यय पक्ष मात्र से संबंद्ध होता है। लेखानुदान स्थायी एवं कार्यवाहक दोनों सरकारें प्रस्तुत कर सकती है। अंतरिम बजट में व्यय तथा आवती दोनों सम्मिलित होते हैं तथा यह चुनाव के पूर्व की कार्यवाहक सरकार तथा चुनाव बाद की नियमित सरकार दोनों द्वारा प्रस्तुत किया जा सकता है।
Tags : राजव्यवस्था प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Antrim Budget Aur Lekha Anudan Mein Antar Kya Hai