अर्जुन की छाल कौन कौन सी बीमारी में काम आती है?

Answer : कई बीमारियों में काम आती है
Explanation : अर्जुन की छाल कई बीमारियों में काम आती है। इसकी छाल में लगभग 15 प्रतिशत टैनिन होता है। जंगल में आसानी से पाया जाने वाला अर्जुन का वृक्ष खूबियों का भंडार है। इसका फल दिल की सेहत सुधारने में मददगार है जबकि छाल क्षय, कफ, पित्त, सर्दी-खांसी और मोटापा जैसी बीमारियों में कारगर होती है। इसके अलावा स्त्री रोगों में भी यह बेहद फायदेमंद होता है। नाम की तरह इसके गुण बीमारियों को अपना निशाना बनाकर मनुष्य को दीर्घायु करते हैं। छाल का उपयोग कई रोगों में लाभ के लिए किया जाता है।
अर्जुन की छाल के उपयोग व फायदे
– हृदय की बढ़ी हुई धड़कन को नियंत्रित करने में उपयोगी।
– हृदय और रक्तवाहिनियों में आई शिथिलता दूर करता है।
– हाइपर एसिडिटी जैसी समस्याओं में भी कारगर है।
– इसे आयुर्वेदिक चिकित्सक कार्डियक टानिक के रूप में प्रयोग करते हैं।
– पीलिया में इसके पेड़ की छाल के चूर्ण को घी में मिलाकर सुबह-शाम लें।
– जलने से बने घाव पर छाल को पीसकर लगाने से राहत मिलती है।
– टूटी हड्डी को जल्द जोड़ने के लिए दूध के साथ इसकी छाल के पाउडर का सेवन करें।
– मुंह के छालों से निजात पाने के लिए इसकी छाल को पीसकर नारियल के तेल के साथ लगाएं।
Related Questions
Web Title : Arjun Ki Chhal Kaun Kaun Si Bimari Mein Kaam Aati Hai