आयुध निदेशालय के पहले महानिदेशक कौन बने है?

(A) पी एल हरनाध
(B) ई. आर. शेख
(C) कृष्ण मेनन
(D) पी वी शाह

Answer : ई. आर. शेख
Explanation : आयुध निदेशालय के पहले महानिदेशक ईआर शेख (E.R. Sheikh) बने है। उनकी नियुक्ति के बाद उन्होंने 30 सितंबर 2021 को कार्यभार संभाला था। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी) कानपुर के पढ़े शेख भारतीय आयुध कारखाना सेवा (आईओएफसए) के 1984 बैज के अधिकारी है। वह गोला-बारूद बनाने वाली रक्षा मंत्रालय के इन कारखानों के आधुनिकीकरण अभियान का नेतृत्व कर रहे थे। उन्होंने आयुध निर्माण कारखना-वरनगांव (महाराष्ट्र) में छोटे हथियारों के गोला-बारूद के उत्पादन की एक आधुनिक विनिर्माण सुविधा स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है।

उन्होंने उप महानिदेशक ( प्रणोदक एवं विस्फोटक) के रूप में विस्फोटक बनाने वाली आयुध विनिर्माण इकाइयों के संयंत्र आधुनिकीकरण का काम कराया। इससे इनमें उत्पादकता, गुणवत्ता और सुरक्षा बढ़ी। उन्होंने तोप के गोला-बारूद के लिए बाई-माडुलर चार्ज प्रणाली (बीएमसीएस) के विकास के काम का सफलता पूर्वक नेतृत्व किया। शेख को उनकी अनुकरणीय सेवाओं के लिए 2020 में आयुध रत्न पुरस्कार से सम्मानित किया गया था।

आयुध निदेशालय, आयुध कारखाना बोर्ड (Ordnance Factory Board - OFB) का उत्तराधिकारी संगठन है। आयुध कारखानों का कुल वार्षिक उत्पादन करीब 19 हजार करोड़ रुपये है। इनमें 70 हजार से अधिक कर्मचारी हैं।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Ayush Nideshalaya Ke Pahle Mahanideshak Kaun Bane Hai