बीज गणित के क्षेत्र में विशेष योगदान दिया गया था?

(A) आर्यभट्ट द्वारा
(B) भास्कर द्वारा
(C) ब्रह्मपुत्र द्वारा
(D) लल्ला द्वारा

Question Asked : [UP Lower (Pre) Spl 2002]
Answer : भास्कर द्वारा
बीजगणित के क्षेत्र में भास्कार ने विशेष योगदान दिया था। आर्यभट्ट के सिद्धांत पर भास्कर ने टीका लिखी। इनके तीन अन्य महत्वपूर्ण ग्रंथ हैं – महाभास्कर्य लघुभास्कर्य एवं भाष्य। 'आयभट्टीय' ग्रंथ की रचना करने वाले आर्यभट्ट अपने समय के सबसे बड़े गणितज्ञ थे। इन्होंने दशमलव प्रणाली का विकास किया। आर्यभट्ट ऐसे प्रथम नक्षत्र वैज्ञानिक थे, जिन्होंने बताया कि पृथ्वी अपन धुरी पर घूमती हुई सूर्य के चारों ओर चक्कर लगाती है। आर्यभट्ट ने सूर्य सिद्धांत लिखा। ब्रह्मपुत्र ने 'ब्रह्मा सिद्धांत' की रचना कर बताया कि 'प्रकृति के नियम' के अनुसार समस्त वस्तुएं ​पृथ्वी पर गिरती हैं।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Beej Ganit Ke Kshetra Mein Vishesh Yogdan Diya Gaya Tha