बहता पानी रमता जोगी का अर्थ और वाक्य प्रयोग

(A) यायावर, जिसका कोई निश्चित पता-ठिकाना न हो।
(B) दुष्टता में दोनों का समान होना
(C) एक के कारण सभी का बदनाम होना
(D) इनमें से कोई नहीं

Answer : यायावर, जिसका कोई निश्चित पता-ठिकाना न हो।
Explanation बहता पानी रमता जोगी (Behta Pani Ramta Jogi) मुहावरे का अर्थ–'यायावर, जिसका कोई निश्चित पता-ठिकाना न हो' होता है। बहता पानी रमता जोगी का वाक्य प्रयोग – सेवानिवृत्ति के बाद मैं भारत-भ्रमण और तीर्थाटन करने निकला तो उदास मन से बेटे-बहू ने पूछा –'आप कहां जा रहे हैं, कुछ तो हमें बताकर जाइये।' मैंने कहां मैं तो रमता जोगी और बहता पानी हूं। मेरा कोई निश्चित ठौर-ठिकाना नहीं है। मैं कहीं टिक कर नहीं रहूंगा। मुहावरा का अर्थ किसी भाषा समृद्धि और उसकी अभिव्यक्ति क्षमता का विकास होता है। मुहावरों एवं कहावतों के प्रयोग से भाषा में सजीवता और प्रवाहमयता आ जाती है। सरल शब्दों में मुहावरे लोक सानस की चिरसंचित अनुभूतियां हैं। मुहावरा शब्द अरबी भाषा का है जिसका अर्थ है 'अभ्यास होना' या ‘आदी होना' और यह भाषा के प्राण हैं।
Tags : मुहावरे, सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Behta Pani Ramta Jogi