भक्ति संस्कृति का भारत में पुनर्जन्म कब हुआ?

(A) वैदिक काल में
(B) दसवीं शताब्दी ईस्वी में
(C) बारहवीं शताब्दी ईस्वी में
(D) पंद्रहवीं और सोलहवीं शताब्दी ईस्वी में

Answer : पंद्रहवीं और सोलहवीं शताब्दी ईस्वी में
Explanation : भक्ति संस्कृति गीता की देन है, जिसमें ईश्वर के प्रति सम्पूर्ण समर्पण की बात कही गई है। गीता में हमें कर्मयोग एवं भक्तियोग का सुंदर समन्वय देखने को मिलता है। परन्तु भक्ति संस्कृति त या भक्ति आंदोलन का पुनर्जन्म पंद्रहवीं एवं सोलहवीं सदी में हुआ, जब कबीर, नानक, सूर, तुलसी, चैतन्य एवं मीरा ने जन्म लेकर भक्ति आंदोलन का व्यापक प्रसार किया। कबीर सिकंदर लोदी के समकालीन थे।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, मध्यकालीन भारत प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bhakti Sanskrit Ka Bharat Mein Punar Janam Kab Hua