भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 2021 कितना है?

(A) 587.637 अरब डॉलर
(B) 592.894 अरब डालर
(C) 600.000 अरब डॉलर
(D) 620.092 अरब डॉलर

Foreign Currency
Answer : 600 अरब डॉलर
Explanation : भारत का विदेशी मुद्रा भंडार 600 अरब डॉलर के पार हो गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के अनुसार इसमें 6.842 अरब डॉलर का उछाल आया और यह 605.008 अरब डॉलर का हो गया। विदेशी मुद्रा भंडार में सिर्फ एक वर्ष में 100 अरब डॉलर का उछाल आया है। देश का विदेशी मुद्रा भंडार पांच जून 2020 को खत्म हुए सप्ताह में 500 अरब डॉलर के ऊपर पहुंचा था। इस वर्ष 28 मई को खत्म सप्ताह में यह 5.271 अरब डॉलर बढ़कर 598.165 अरब डॉलर पर जा पहुंचा था और माना जा रहा था कि यह 600 अरब डॉलर का आंकड़ा जल्द पार कर लेगा।

वही विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों (एफसीए) में 7.362 अरब डॉलर का इजाफा हुआ है। इस बढ़त के साथ विदेशी मुद्रा परिसंपत्तियों का मूल्य बढ़कर 560.890 अरब डॉलर पर जा पहुंचा। एफसीए में डॉलर समेत यूरो, पाउंड और येन जैसी मुद्राओं को भी शामिल किया जाता है। इनके मूल्य की गणना भी डॉलर के भाव में ही की जाती है। हालांकि समीक्षाधीन सप्ताह में देश के स्वर्ण भंडार का मूल्य 50.20 करोड़ डॉलर घटकर 37.604 अरब डॉलर का रह गया। देश का विदेशी मुद्रा भंडार छह अप्रैल, 2007 को खत्म सप्ताह में 200 अरब डॉलर के ऊपर पहुंचा था। उसके बाद 300 अरब डॉलर का आंकड़ा पार करने में इसे सात वर्ष लग गए थे। विदेशी मुद्रा भंडार ने 28 मार्च, 2014 को खत्म सप्ताह में 300 अरब डॉलर को पार किया था। हालांकि उसमें 100 अरब डॉलर जुड़ने में सिर्फ तीन वर्ष से कुछ अधिक का वक्त लगा और विदेशी मुद्रा भंडार आठ सितंबर, 2017 को 400 अरब डॉलर के ऊपर था। अगले ढाई वर्षो में ही देश का विदेशी मुद्रा भंडार 100 अरब डॉलर बढ़कर पांच जून, 2020 को 500 अरब डॉलर के ऊपर जा चुका था। विदेशी मुद्रा भंडार में सर्वाधिक तेजी से 100 अरब डॉलर पिछले एक वर्ष के दौरान ही जुड़ा है।
Tags : अर्थव्यवस्था प्रश्नोत्तरी, अर्थशास्त्र, रोचक प्रश्नोत्तर
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Related Questions
Web Title : Bharat Ka Videshi Mudra Bhandar 2020