भारत में न्यायिक सक्रियता किससे संबंधित है?

(A) प्रतिबद्ध न्यायपालिका से
(B) न्यायिक समीक्षा से
(C) न्यायिक स्वतन्त्रता से
(D) जनहित याचिका से

Question Asked : [UPPSC (DIET) Lecturer Exam 2012]
Answer : जनहित याचिका से
भारत में 'न्यायिक सक्रियता' का सम्बन्ध जनहित यात्रिका से है। यदि कोई व्यक्ति या समाज का वर्ग, जिसको विधिक क्षति पहुंचायी गई है या उसके विधिक अधिकारों का अतिक्रमण हुआ है, अपनी निर्धनता अथवा किसी अन्य कारण से अपने संवैधानिक या विधिक अधिकारों के संरक्षण के लिए न्यायालय में जाने में असमर्थ है तो समाज कोई अन्य व्यक्ति या संघ न्यायालय में उसको पहुंची विधिक क्षति के निवारण के लिए अनच्छेद 32 के तहत आवेदन दे सकता है। भारत में इसकी शुरूआत का श्रेय न्यायमूर्ति पी. एन. भगवती तथा न्यायमूर्ति कृष्णा अय्यर साहब को जाता है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bharat Mein Nyayik Sakriyata Kisse Sambandhit Hai