भारत में त्रिभाषा सूत्र कब पारित किया?

(A) 1965 में
(B) 1968 में
(C) 1978 में
(D) 1986 में

Answer : 1968 में
Explanation : भारत में त्रिभाषा सूत्र 1968 में पारित किया था। त्रिभाषा सूत्र की सिफारिश कोठारी समिति ने की थी। त्रि-भाषा सूत्र का मतलब है कि पहली भाषा मातृभाषा या क्षेत्रीय भाषा होगी। दूसरी भाषा के अंतर्गत हिंदी भाषी राज्यों में यह अन्य आधुनिक भारतीय भाषा या अंग्रेज़ी होगी। गैर-हिंदी भाषी राज्यों में यह हिंदी या अंग्रेज़ी होगी। जबकि तीसरी भाषा के अंतर्गत हिंदी भाषी राज्यों में यह अंग्रेज़ी या एक आधुनिक भारतीय भाषा होगी। गैर-हिंदी भाषी राज्य में यह अंग्रेज़ी या एक आधुनिक भारतीय भाषा होगी। त्रिभाषा सूत्र का उद्देश्य था कि छात्र अधिक भाषा सीखें।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bharat Mein Tribhasha Sutra Kab Parit Kiya