भारतीय एफडीआई का विश्व में कौन सा स्थान है?

(A) पहला
(B) पांचवां
(C) तीसरा
(D) नौवां

Answer : पांचवां
Explanation : भारतीय प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (FDI) का विश्व में पांचवां स्थान है। यूएन कांफ्रेंस ऑन ट्रेड एंड डेवलपमेंट (अंकटाड) ने वर्ल्ड इंवेस्टमेंट रिपोर्ट, 2021 में कहा है कि भारत में 2019 के मुकाबले 2020 के दौरान एफडीआइ 27 फीसद बढ़कर 64 अरब डॉलर हो गया। वहीं, वैश्विक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआइ) पिछले वर्ष 35 फीसद घटकर एक लाख करोड़ डॉलर रह गया, जो 2019 में डेढ़ लाख करोड़ डॉलर रहा था। रिपोर्ट के अनुसार, पिछले वर्ष दुनियाभर के कुल एफडीआइ निवेश में एशिया की हिस्सेदारी बढ़कर 54 फीसद पर पहुंच गई।

अंकटाड की जारी रिपोर्ट में के अनुसार भारत की आर्थिक गतिविधियों पर कोरोना संकट ने गहरा असर जरूर डाला है, लेकिन मध्यम अवधि में देश की मजबूत आर्थिक बुनियाद पर दुनिया को शक नहीं है। कोरोना संक्रमण से बचने को दुनियाभर में लगाए गए लॉकडाउन के चलते वैश्विक निवेश पर गहरा असर पड़ा, क्योंकि बहुराष्ट्रीय कंपनियों ने बहुत से देशों में अपनी परियोजनाओं पर नए सिरे से विचार किया। कोरोना संकट की वजह से दुनियाभर में डिजिटल इन्फ्रास्ट्रक्चर और सेवाओं को खासा बल मिला। भारत में निवेश बढ़ने की एक बड़ी वजह यह रही कि सूचना एवं संचार तकनीक के क्षेत्र में विलय व अधिग्रहण के बड़े सौदे हुए।
Related Questions
Web Title : Bharatiya Fdi Ka Vishwa Mein Kaun Sa Sthan Hai