भारतीय संविधान की प्रस्तावना में निहित मुख्य सिद्धांत

(A) गणतंत्र, जनवादी, धर्मनिरपेक्ष, समाजवादी, सार्वभौम सत्ता सम्पन्न
(B) सार्वभौम सत्ता सम्पन्न, समाजवादी, जनवादी, धर्मनिरपेक्ष
(C) सार्वभौम सत्ता सम्पन्न, जनवादी, धर्मनिरपेक्ष समाजवादी
(D) सार्वभौम सत्ता सम्पन्न, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, जनवादी गणतंत्र

Answer : सार्वभौम सत्ता सम्पन्न, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, जनवादी गणतंत्र
Explanation : भारतीय संविधान की प्रस्तावना (Preamible) में 42वें संविधान संशोधन के बाद जिसमें कुछ नये आदर्श प्रतिस्थापित किये गये हैं। अब सही क्रम सम्प्रभु समाजवादी, पंथ (धर्म) निरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य है। संविधान में प्रस्तावना को तब जोड़ा गया था जब बाकी संविधान पहले ही लागू हो गया था। बेरूबरी यूनियन के मामले में (1960) सुप्रीम कोर्ट ने यह कहा कि प्रस्तावना संविधान का हिस्सा नहीं है। हालांकि, यह स्वीकार किया गया कि यदि संविधान के किसी भी अनुच्छेद में एक शब्द अस्पष्ट है या उसके एक से अधिक अर्थ होते हैं तो प्रस्तावना को एक मार्गदर्शक सिद्धांत के रूप में इस्तेमाल किया जा सकता है।
Tags : भारत का संविधान, भारतीय संविधान प्रश्नोत्तरी, राजव्यवस्था प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, RRB Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bhartiy Sanvidhan Ki Prastavna Me Nihit Mukhy Siddhant