भू-राजस्व वसूली हेतु ठेका दिए जाने के प्रथा के लिए शब्दावली थी?

(A) ठेका
(B) इजारा
(C) जब्ती
(D) कनकूत

Question Asked : [MPPSC (Pre) GS Ist 2009]
Answer : इजारा
मुगल काल में छोटे जागीरदारों के लिए अपनी जागीर से दूर रहकर भूराजस्व वसूल करना कठिन था। अत: उन्होंने अपनी जागीरों को 'इजारा' (भूरास्व वसूलने का ठेका) पर देना प्रारंभ किया। कभी-कभी बड़े जागीरदार भी अपनी जागीर 'इजारा' पर दे देते थे। यह प्रथा कृषकों के लिए एक अभिशाप थी। इजारेदार अधिकाधिक लाभ अर्जित करने के लिए उनका शोषण करते थे। 18वीं सदी के पूर्वार्ध में विशेषत: बहादुरशाह की मृत्यु के बाद खालसा भूमि पर भी इस प्रथा का बहुप्रचलन हो गया, जिससे कृषकों में गरीबी बढ़ी तथा राजकोष को भी राजस्व की उत्तरोत्तर हानि उठानी पड़ी।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Bhoo Rajaswa Vasooli Hetu Theka Die Jane Ke Pratha Ke Liye Shabdavali Thi