बुद्धि के बहुकारक सिद्धांत के प्रतिपादक कौन थे?

(A) जीन पियाजे
(B) बिने
(C) हॉवर्ड गार्डनर
(D) इनमें से कोई नहीं

Answer : हॉवर्ड गार्डनर
Explanation : बहुकारक बुद्धि के सिद्धान्त का प्रतिपादन 'हॉवर्ड गार्डनर' द्वारा किया गया था। उनका विचार था कि बुद्धि का स्वरूप एकाकी न होकर बहुकारकीय होता है। अब तक नौ प्रकार के बुद्धि कारकों की खोज हो चुकी है। हॉवर्ड गार्डनर का बहु-प्रतिभा का सिद्धांत (theory of multiple intelligences), लोगों एवं उनकी विभिन्न प्रकार की प्रतिभाओं के बारे में वर्ष 1983 में प्रतिपादित किया। इस सिद्धान्त के द्वारा बुद्धि की अवधारणा (कांसेप्ट) को और अधिक शुद्धता से परिभाषित किया गया है और यह देखने की कोशिश की गयी है कि बुद्धि को मापने के लिये पहले से मौजूद सिद्धान्त किस सीमा तक वैज्ञानिक हैं।
Tags : सामान्य ज्ञान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Buddhi Ke Bahukarak Siddhant Ke Pratipadak Kaun The