संस्कृत

विश्व की सबसे प्राचीन भाषा संस्कृत से ही अन्य भारतीय भाषाएँ जैसे–हिंदी, बांग्ला, मराठी, सिंधी, पंजाबी, नेपाली, आदि उत्पन्न हुई हैं। लगभग सभी धार्मिक ग्रंथ संस्कृत में ही लिखे गये हैं। संस्कृत उत्तराखंड की द्वितीय राजभाषा है। संस्कृत व्याकरण, संस्कृत वर्णमाला, संस्कृत श्लोक, संस्कृत में नाम, संस्कृत शब्दकोश, संस्कृत गिनती आदि से सं​बंधित यहां भारी संख्या में संस्कृत प्रश्न उत्तर दिये गये है। जिसकी सहायता से आप टीचर भर्ती परीक्षाओं में आसानी से सफलता प्राप्त कर सकते हैं।

1. नीतिशतक के लेखक कौन है?
TGT Exam 2010

(A) भारवि
(B) भवभूति
(C) भर्तृहरि
(D) भूषण

2. हिरण (Hiran) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(A) कुरंग:
(B) अश्वा
(C) अहम्
(D) मृग

3. नमस्ते (Namaste) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(A) नमत
(B) नमेरू
(C) नमस्कार:
(D) नमनम्

4. दुकान (Dukan) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(B) तित्तरी
(A) आपणः
(C) तारक
(D) विपणि

5. आलू (Aloo) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(A) आलुकम्
(B) शकरकन्दः
(C) अलाबूः
(D) मरीचम्

6. आलू (Aaloo) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(A) पक्कालुः
(B) तिंतिडीकम्‚ तिंतिडी
(C) कौशिकः
(D) आम्रम्‚ रसालः‚ सहकारः

7. फल (Phal) को संस्कृत में क्या कहते हैं?

(A) फलम्
(B) फलानि
(C) फलागम
(D) फलोच्चय

8. विश्व संस्कृत दिवस कब मनाया जाता है?

(A) 29 सितम्बर
(B) 15 अगस्त
(C) 14 नवम्बर
(D) श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन

9. स्त्रीणां माद्यं प्रणय वचनं विभ्रमो हि प्रियेषु का अर्थ
TGT 2004, 2011

(A) सभी रिक्त पदार्थ हल्के तथा पूर्णता गौरव के लिए होती है।
(B) श्रेष्ठ जनों की सम्पत्तियां आर्त्तजनों के कष्टों को दूर कर देने वाली होती है।
(C) स्त्रियों का प्रिय के प्रति विलास प्रारम्भिक प्रार्थना वाक्य होता है।
(D) इनमें से कोई नहीं

10. ते हि नो दिवसा गता: का अर्थ
TGT 2004, 2011

(A) संसार की यही (दु:खद) परिणाम हुआ।
(B) बंधुओं का वियोग दु:खदायी होता है।
(C) दुर्जन दु:ख उत्पन्न करता है।
(D) हमारे वे दिन बीत गये।

11. कादम्बरी किसकी रचना है?
TGT 2004, 2011

(A) भट्टनारायण
(B) भट्टोजिदीक्षित
(C) दण्डी
(D) बाणभट्ट

12. उत्तर रामचरित के लेखक कौन है?

(A) भवभूति
(B) बाणभट्ट
(C) भर्तृहरि
(D) कालिदास

13. नीति शतक किसकी रचना है?

(A) भवभूति
(B) बाणभट्ट
(C) भर्तृहरि
(D) कालिदास

14. भर्तृहरि ने विद्या के विषय में क्या कहा है?

(A) अपार शक्ति
(B) लाभ का कारण
(C) उत्कृष्ट धन
(D) दानवान व्यक्ति

15. किरातार्जुनीयम् में कितने सर्ग है?

(A) 12 सर्ग
(B) 15 सर्ग
(C) 18 सर्ग
(D) 22 सर्ग