छायावाद का सर्वाधिक कटु आलोचक कौन है?

(A) इलाचंद्र जोशी
(B) रामचंद्र शुक्ल
(C) महावीर प्रसाद द्विवेदी
(D) नंददुलारे बाजपेयी

Answer : महावीर प्रसाद द्विवेदी
Explanation : छायावाद का सर्वाधिक कटु आलोचक महावीर प्रसाद द्विवेदी माने जाते है। इनके पिता का नाम श्री रामसहाय द्विवेदी था। जो ईस्ट इंडिया कंपनी की सेना में साधारण सिपाही थे। कहा जाता है कि इनके पिता रामसहाय द्विवेदी को महावीर का इष्ट था, इसलिए इन्होंने पुत्र का नाम महावीरसहाय रखा। इनकी प्रारंभिक शिक्षा गांव की पाठशाला में हुई। पाठशाला के प्रधानाध्यापक ने भूल वश इनका नाम महावीर प्रसाद लिख दिया था। यह भूल हिंदी साहित्य में स्थाई बन गई। इनकी साहित्य सेवाओं से प्रभावित होकर सन् 1931 ई. काशी नागरी प्रचारिणी सभा ने इन्हें आचार्य की उपाधि से तथा हिंदी साहित्य सम्मलेन ने साहित्य वाचस्पति की उपाधि से सम्मानित किया। इनका निधन 21 दिसंबर 1938 ई. में रायबरेली में हुआ था।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Chhayavad Ka Sarvadhik Katu Alochak Kaun Hai