सीवी रमन की मृत्यु कब हुई थी?

(A) 7 नवम्बर 1888
(B) 21 नवम्बर 1970
(C) 28 मार्च 1928
(D) 21 अप्रैल 1930

c v raman
Answer : 21 नवम्बर 1970 (उम्र 82)
सीवी रमन की मृत्यु 82 वर्ष में 21 नवम्बर 1970 को बंगलुरु, कर्नाटक में हुई थी। उनका पूरा नाम चंद्रशेखर वेंकट रमन था जो तमिलनाडु के तिरुचिरापल्ली शहर में 7 नवम्बर 1888 को जन्में थे। इनके पिता चंद्रशेखर अय्यर गणित और भौतिकी के प्राध्यापक थे। रमन पहले व्यक्ति थे जिन्होंने वैज्ञानिक संसार में भारत को ख्याति दिलाई। उन्होंने 28 फरवरी 1928 में पारदर्शी पदार्थ से गुजरने पर प्रकाश की किरणों में आने वाले बदलाव पर की गई इस महत्‍वपूर्ण खोज की थी जो 'रमन प्रभाव' के रूप में प्रसिद्ध हुई। जिसके लिए उन्हें 1930 में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया गया। वर्ष 1948 में सेवानिवृति के बाद उन्होंने रामन् शोध संस्थान की बैंगलोर में स्थापना की और इसी संस्थान में शोधरत रहे। 1954 ई. में भारत सरकार द्वारा भारत रत्न की उपाधि से विभूषित किया गया। आपको 1957 में लेनिन शान्ति पुरस्कार भी प्रदान किया था।

प्राचीन भारत में विज्ञान की उपलब्धियां थीं जैसे- शून्य और दशमलव प्रणाली की खोज, पृथ्वी के अपनी धुरी पर घूमने के बारे में तथा आयुर्वेद के फार्मूले इत्यादि। मगर पूर्णरूप से विज्ञान के प्रयोगात्मक कोण में कोई विशेष प्रगति नहीं हुई थी। रामन ने उस खोये रास्ते की खोज की और नियमों का प्रतिपादन किया जिनसे स्वतंत्र भारत के विकास और प्रगति का रास्ता खुल गया। रामन ने स्वाधीन भारत में विज्ञान के अध्ययन और शोध को जो प्रोत्साहन दिया उसका अनुमान कर पाना कठिन है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Cv Raman Ki Mrityu Kab Hui Thi