दल-बदल निरोधक अधिनियम कब पारित हुआ?

(A) 17 फरवरी, 1985
(B) 15 फरवरी, 1985
(C) 30 मार्च, 1985
(D) 21 अप्रैल, 1985

Answer : 30 मार्च, 1985
Explanation : दल बदल निरोधक अधिनियम 30 मार्च, 1985 को पारित किया गया। संविधान 52वां का संशोधन अधिनियम, 1985 द्वारा संविधान के अनुच्छेद 101, 102, 190 तथा 192 में संशोधित करके तथा संविधान में दसवीं अनुसूची को जोड़कर दल-बदल को रोकने के लिए कानून बनाया गया। आपको बता दे कि वर्ष 1967 में हरियाणा के एक विधायक 'गयालाल' ने एक दिन में तीन बार पार्टी बदली थी। इस मौकापरस्ती प्रथा को बंद करने के लिए 1985 में 52वां संविधान संशोधन किया गया और संविधान में 10वीं अनुसूची जोड़ी गई जिससे कि पार्टी छोड़कर भागने की प्रथा पर काबू पाया जा सके।

दलबदल विरोधी कानून की विशेषताओं
1. यदि एक व्यक्ति को दसवीं अनुसूची के तहत अयोग्य घोषित कर दिया जाता है तो वह संसद के किसी भी सदन का सदस्य होने के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

2. यदि एक व्यक्ति को दसवीं अनुसूची के तहत अयोग्य घोषित कर दिया जाता है तो विधान सभा या किसी राज्य की विधान परिषद की सदस्यता के लिए अयोग्य घोषित कर दिया जाएगा।

3. दसवीं अनुसूची के अलावा- संविधान की नौवीं अनुसूची के बाद, दसवीं अनुसूची को शामिल किया गया था जिसमें अनुच्छेद 102 (2) और 191 (2) को शामिल किया गया था।
Tags : राजव्यवस्था प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Dal Badal Nirodhak Adhiniyam Kab Parit Hua