एक ऐप बनाने में कितना खर्चा आता है?

Answer : 50 हजार से लेकर 20 लाख रुपये तक
एक ऐप बनाने में 50 हजार से लेकर 20 लाख रुपये तक खर्चा आता है। यह सब ऐप डेवलपर की योग्यता पर निर्भर करता है। वैसे ऑनलाईन कई वेबसाइट और एप ऐसे भी है जहां से आप स्टेप बाय स्टेप पढ़कर फ्री में खुद भी एप बना सकते है। लेकिन वह एप उतने प्रोफेशनल नहीं होते, जितना आप किसी ऐप डेवलपर से बनवाते हो। क्योंकि वह आपकी जरूरत को ध्यान में रखकर एप बनाता है। वर्तमान में एप की जरूरत और उपयोगिता बढ़ रही है। स्मार्टफोन की बढ़ती लोकप्रियता के कारण ही मोबाइल एप बनाने का आज बड़ा वैश्विक बाजार खड़ा हो चुका है, जहां रोजगार और असीमित कमाई के मौके हैं। इतना ही नहीं, मोबाइल एप्लीकेशन आज अधिकांश व्यवसायों का अनिवार्य हिस्सा बन गया है या यूं कहें कि एप के भरोसे ही बहुत सारे बिजनेस चल रहे हैं, जैसे कि ओला, उबर, अमेजन, पेटीएम आदि। यहां तक कि बैंकिंग के काम भी तेजी से एप के जरिए होने लगे हैं। आज अगर ये एप न होते, तो शायद ही ये बिजनेस इस रफ्तार से आगे बढ़ते। दरअसल, मोबाइल एप भी एक प्रकार से सामान्य सॉफ्टवेयर ही है. लेकिन इसका उपयोग मोबाइल में करते हैं।
Related Questions
Web Title : Ek App Banane Mein Kitna Kharcha Aata Hai