गांधी इरविन समझौता किसने करवाया था?

(A) मोतीलाल नेहरू
(B) तेज बहादुर सप्रू
(C) एम. आर. जयकर
(D) B और C दोनों

Answer : B और C दोनों
Explanation : गांधी इरविन समझौता तेजबहादुर सप्रू और एम.आर. जयकर के प्रयासों से संपन्न हुआ था। जिसके उपरांत 17 फरवरी, 1931 को महात्मा गांधी और लार्ड इरविन की बातचीत प्रारंभ हुई जो (15 दिन तक) 4 मार्च, 1931 तक चली। गांधी-इरविन बातचीत के परिणामस्वरूप 5 मार्च, 1931 को एक समझौता हुआ जो गांधी-इरविन समझौता के नाम से जाना जाता है। इसे कुछ लोगों ने 'शांति समझौता' और कुछ ने 'अस्थाई करार' नाम दिया। गाँधी-इरविन समझौते (दिल्ली समझौते) को मंजूरी देने के लिए 29 मार्च, 1931 को कराची में कांग्रेस की बैठक हुई। कांग्रेस ने 'दिल्ली समझोते' को अपनी मंजूरी दी और पूर्ण स्वराज के अपने लक्ष्य को पुनः दोहराया। 29 मार्च, 1931 को वल्लभभाई पटेल की अध्यक्षता में कराची में कांग्रेस का अधिवेशन हुआ, जिसमें बड़ी कठिनाई से यह समझौता स्वीकार किया गया। गांधीजी को कांग्रेस के एकमात्र प्रतिनिधि के रूप में द्वितीय गोलमेज सम्मेलन में भाग लेने के लिए नियुक्त किया गया।
Tags : गांधी इरविन समझौता
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Gandhi Irwin Samjhauta Kisne Karvaya Tha