गुप्त युग में भूमि राजस्व की दर क्या थी?

(A) उपज का चौथा भाग
(B) उपज का छठां भाग
(C) उपज का आठवां भाग
(D) उपज का आधा भाग

Question Asked : [BPSC (Pre) 1997-98]
Answer : उपज का छठां भाग
गुप्तयुगीन स्मृतियों के अनुसार राजा अपनी प्रजा के प्रति की गयी सेवाओं के बदले में उपज का छठां भाग पाने का अधिकारी होगा। इसे 'भाग' कहा जाता था जो तत्कालीन राजस्व का मुख्य स्त्रोत था। इसके अतिरिक्त भोग, उद्रंग, उपरिकर आदि कर भी गुप्तकाल में लिया जाता था। प्रजा को यह सुविधा थी कि वह कर को नकद (हिरण्य) अथवा अनाज (मेय) में चुकाये।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Gupt Yug Mein Bhumi Rajaswa Ki Dar Kya Thi