हनुमान की पूंछ में लगन न पाई आग में कौन सा अलंकार है?

(A) अतिशयोक्ति अलंकार
(B) यमक अलंकार
(C) श्लेष अलंकार
(D) मानवीकरण अलंकार

Answer : अतिशयोक्ति अलंकार
Explanation : हनुमान की पूंछ में लगन न पायी आगि। सगरी लंका जल गई, गये निसाचर भागि। में अतिशयोक्ति अलंकार है। इसमें कहा गया है कि अभी हनुमान की पूंछ में आग लगने से पहले ही पूरी लंका जलकर खाख हो गयी और सभी राक्षस भाग खड़े हुए। ये बात बिलकुल असंभव है। अतः यह अतिशयोक्ति के अंतर्गत आता है। जहां किसी वस्तु का इतना बढ़ा-चढ़ाकर वर्णन किया जाए कि सामान्य लोक सीमा का उल्लंघन हो जाए वहाँ अतिशयोक्ति अलंकार होता है। यानि जब किसी व्यक्ति या वस्तु का वर्णन करने में लोक समाज की सीमा या मर्यादा टूट जाये उसे अतिश्योक्ति अलंकार कहते हैं।
Tags : अलंकार, मानवीकरण अलंकार
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
Related Questions
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Web Title : Hanuman Ki Poonch Mein Lagan Na Payi Aag Me Alankar