होम्योपैथी डॉक्टर कैसे बने?

Answer : बीएचएमएस की डिग्री लेनी होगी।
होम्योपैथी डॉक्टर (Homeopathic doctor) बनने के लिए आपको बीएचएमएस की डिग्री लेनी होगी। बीएचएमएस के लिए न्यूनतम शैक्षिक योग्यता बारहवीं उत्तीर्ण (50%, फिजिक्स, केमिस्ट्री, बायोलॉजी और अंग्रेजी विषय) व न्यूनतम आयु सीमा 17 वर्ष है। वर्तमान में होम्योपैथिक डॉक्टर (Homeopathic doctor) बनने के लिए कई कोर्स हैं। इनमें सबसे आरंभिक कोर्स है-बैचलर ऑफ होम्योपैथिक मेडिसिन एंड सर्जरी (बीएचएमएस)। इसमें प्रवेश सामान्यतः नीट और केईएएम (केरला इंजीनियरिंग आर्किटेक्चर मेडिकल) की प्रवेश परीक्षाओं पर निर्भर करता है। इसकी फीस करीब दो से तीन लाख रुपये के बीच में होती है। हालांकि सरकारी कॉलेज की फीस प्राइवेट कॉलेज की तुलना में कम होती है। भारती विद्यापीठ डीम्ड यूनिवर्सिटी पूणे, विनायक मिशन यूनिवर्सिटी, सलेम, महाराष्ट्र यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस, नासिक, नेहरू होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, नई दिल्ली इत्यादि कॉलेजों में यह कोर्स उपलब्ध है। बीएचएमएस का कोर्स सामान्यतः किसी कॉलेज में 4.5 वर्ष का होता है और उसके बाद एक वर्ष की इंटर्नशिप होती है। इस प्रकार, यह कोर्स कुल मिलाकर साढ़े पांच वर्ष की अवधि का हो जाता है।

होम्योपैथ में पोस्ट ग्रेजुएशन में पीडियाट्रिक्स, मेटेरिया मेडिका, होम्योपैथिक फिलॉसफी, रेपर्टरी, साइकिएट्री, फॉर्मेसी आदि में किसी एक में विशेषज्ञता हासिल करने के बाद टीचिंग प्रोफेशन को चुन सकते हैं। इसके अलावा बैचलर डिग्री लेने के बाद गवर्नमेंट्स या प्राइवेट हॉस्पिटल्स में होम्योपैथ डॉक्टर के रूप में जॉब के विकल्प हैं। इसके अलावा क्लिनिक्स, चैरिटेबल इंस्टीटयूट्स, रिसर्च इंस्टीटयूट्स, मेडिकल कॉलेजों में भी काम मिल सकता है। इन सभी के अलावा प्राइवेट प्रैक्टिस भी कर सकते हैं।

कहां से करें कोर्स (Courses) गुरु गोविंद सिंह इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी, दिल्ली
नेहरू होम्यो मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, नई दिल्ली
नेशनल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, लखनऊ
कानपुर होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, कानपुर
जीडी मेमोरियल होम्योपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल, पटना
नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ होम्योपैथी, साल्टलेक, कोलकाता
Related Questions
Web Title : Homeopathic Doctor Kaise Bane