हाइड्रोजन बम में कौन सी अभिक्रिया होती है?

(A) नाभिकीय विखंडन
(B) नाभिकीय संलयन
(C) प्राकृतिक रेडियोधर्मिता
(D) कृत्रिम विभाजन

Answer : नाभिकीय संलयन
Explanation : हाइड्रोजन बम में नाभिकीय संलयन अभिक्रिया होती है। नाभिकीय संलयन को कई छोटे नाभिकों के एक बड़े नाभिक में संयोजन के रूप में परिभाषित किया जाता है, जिसके बाद बड़ी मात्रा में ऊर्जा निकलती है। संलयन वह प्रक्रिया है जो सूर्य को शक्ति प्रदान करती है और एक असीम, स्वच्छ ऊर्जा स्रोत प्रदान कर सकती है। हाइड्रोजन बम का सिद्धांत भी यही है। संलयन अभिक्रियाएं प्लाज्मा नामक पदार्थ की अवस्था में होती हैं। प्लाज्मा एक गर्म, आवेशित गैस है, जो सकारात्मक आयनों और मुक्त गति वाले इलेक्ट्रॉनों से बनी होती है। इसमें ठोस, तरल एवं गैसों से अलग अद्वितीय गुण होते हैं।
Tags : रसायन विज्ञान प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Hydrogen Bomb Me Kon See Abhikriya Hoti Hai