इकाई कीमत लोचदार मांग वक्र किसे स्पर्श करेगा?

(A) कीमत और परिमाण अक्ष दोनों
(B) न तो कीमत अक्ष और न ही परिमाण अक्ष
(C) केवल कीमत अक्ष
(D) केवल परिमाण अक्ष

Answer : न तो कीमत अक्ष और न ही परिमाण अक्ष
Explanation : इकाई कीमत लोचदार मांग वक्र न तो कीमत अक्ष और न ही परिमाण अक्ष स्पर्श करेगा। इकाई लोचदार (यूनिट इलास्टिक) उस लोचकता (इलास्टिसिटी) के विकल्प के लिए प्रयुक्त होता है जिसमें मूल्य में कोई भी प्रतिशत परिवर्तन मात्रा या परिमाण में एक समान प्रतिशत परिवर्तन का कारण बनता है। दूसरे शब्दों में, मूल्य में कोई भी परिवर्तन चाहे वह अधिक हो या कम, ठीक उसके समान ही परिमाण (Quantity) में प्रतिशत परिवर्तन कर देता है। हालांकि इकाई कीमत लोचदार मांग वक्र (यूनिट प्राइस इलास्टिक डिमांड कर्व) न तो कीमत अक्ष (प्राइस एक्सिस) और न परिमाण अक्ष (क्वान्टिटी एक्सिस) को ही स्पर्श करता है।
Tags : अर्थशास्त्र प्रश्नोत्तरी, अर्थशास्त्र वस्तुनिष्ठ प्रश्न उत्तर, ऑनलाइन अर्थशास्त्र सवाल और जवाब
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Ikai Kimat Lochdar Mang Vakr Kise Sparsh Karega