कान पर जूं न रेंगना मुहावरे का अर्थ और वाक्य प्रयोग

(A) एक मात्र पुत्र, कुलदीप
(B) ओछे व्यक्ति का इतरा कर चलना
(C) बिलकुल ध्यान न देना
(D) अधिक बलवान से वैर-भाव मोल लेना

Answer : बिलकुल ध्यान न देना
Explanation : कान पर जूं न रेंगना मुहावरे का अर्थ बिलकुल ध्यान न देना होना होता है। कान पर जूं न रेंगना मुहावरे का वाक्य प्रयोग – मैंने बहुत समझाया कि सुधर जाओ पर उसके कान पर जूं तक नहीं रेंगी। मुहावरा कोई भी ऐसा वाक्यांश, जिसका शब्दार्थ ग्रहण न करके कोई विलक्षण अर्थ ग्रहण किया जाता हो, वह मुहावरा कहलाता है। सरल शब्दों में मुहावरे लोक सानस की चिरसंचित अनुभूतियां हैं। उनके प्रयोग से भाषा की सजीवता की वृद्धि होती है। मुहावरे भाषा के प्राण हैं।
Tags : मुहावरे, सामान्य हिन्दी प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kaan Par Joo Na Rengna Muhavare Ka Arth