खानवा के युद्ध में कौन पराजित हुआ था?

(A) राणा प्रताप
(B) हेमू
(C) राणा सांगा
(D) अलाउद्दीन खिलजी

Question Asked : [Uttarakhand PCS (Pre) GS 2009-10]
Answer : राणा सांगा
बाबर की पुत्री गुलबदन बेगम ने अपनी प्रसिद्ध कृति 'हुमायूनामा' में इस बात का उल्लेख किया है कि बाबर की मृत्यु विष देने से हुई। गुलबदन बेगम बाबर की बेटी उसका जनम 1523 के करीब हुआ था। जब बाबर काबुल पर काबिज था उसने अपने बाप का जमाना देखा था। बाबर की मृत्यु के समय बेगम की आयु आठ वर्ष थी। हुमायूं ने उसको बड़े प्यार से रखा जैसा कि उसने खुद लिखा है। कन्नौज की हार के बाद वह काबुल में रही और 1545 में हुमायूं की वापसी पर अति प्रसन्न हुई उसने हुमायूं और कामरान के बीच अफगानिस्तान में हुर्ई लड़ाइयों का जिक्र बड़े रोचक ढंग से किया है। हुमायूंनामा दो भागों में बंटा है। पहला भाग बाबर के इतिहास से संबंधित है और दूसरा हुमायूं के हालात बयान करता है। बाबर के बारे में उसने बहुत विस्तार से नहीं लिखा है क्योंकि छोटी आयु की होने की वजह से उसको बहुत सारी बातें याद नहीं रही थी। इसके लिए दूसरों से जानकारी लेनी पड़ी। हालांकि उसने बाबर के बारे में बहुत थोड़ा लिखा है लेकिन वह बहुत अधिक महत्वपूर्ण है।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Khanwa Ka Yudh Mein Kaun Parajit Hua Tha