किस वंश ने ओरछा को बुन्देलखण्ड की राजधानी बनाया था?

(A) बुंदेला
(B) चंदेल
(C) मुगल
(D) सिंधिया

Question Asked : [Chattisgarh PSC (Pre) Ist 2012]
Answer : बुंदेला
बुंदेला सरदार चम्पतराय के पुत्र छत्रसाल को औरंगजेब ने 4000 का मनसब प्रदान करने सहित उसे राजा की उपाधि से सम्मानित किया। इसी समय छत्रसाल ने ओरछा को बुंदेलखंड की राजधानी बनाया। चंदेलों की राजधानी 'खजुराहो' (आधुनिक छतरपुर जिले में स्थित) थी, जहां पर उन्होने विश्व प्रसिद्ध मंदिरों का निर्माण ​कराया था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें

Answers by users

मोहली राजघराना, March 16, 2021

मोहाली एक राजघराना है बुंदेलखंड का इतिहासिक राज कराना लोधी क्षत्रिय महाराजाधिराज महा सिंह जूदेव का गढ़ है
बुंदेलखंड के बुंदेला छत्रिय वंश का शासक महेंद्र लोधी महाराजा पदम सिंह जूदेव की इतिहासिक राजधानी मोहली वहां का गढ़ दीवान केहरी सिंह जूदेव ने बनवाया था वह लोधी क्षत्रिय नाम से विख्यात हैं 3 जिलों में रहे सागर जबलपुर दमोह एवं नरसिंहपुर चौथा जिला में विख्यात है
महाराजाधिराज महा सिंह जूदेव की पत्नी महारानी सरस्वती बाई सती हुई थी सन 1721 मेंफोन का वंशज राजा के रूप में आज भी परिवर्तित है पहली रात की रानी में राजा की परंपरा आज भी निभाई जा रही है राज तिलक एवं दीवान पदवी अस्त्र-शस्त्र किला राजदरबार द्वारा परंपरा चली आ रही है सन 18 सो 42 के बुंदेला विद्रोह में 19 सात किया था हीरापुर के राजा ऐसा है एवं हिंडोरिया के राजा अशोक जूदेव के साथ युद्ध किया गया था तो बुंदेला विद्रोह में जीत हासिल की और उसके बाद सन 18 सो 57 की क्रांति में भी शामिल हुए युद्ध की तैयारियां की 50,000 सेना 20000 घोड़ों के साथ तलवार एवं बंधु के तोप सहित लड़ाई की थी पहली राजघराना राजघराना एवं बजरंग गढ़ के राजा भी साथ में लड़ाई लड़ा करते थे यह चारों परिवार लोधी क्षत्रिय वंश के हैं उनका आज भी एक ही परिवार निभाया जाता है सोने चांदी के आभूषण अस्त्र-शस्त्र राजा साहिब पोशाक एवं उनके कुलदेवी महा माता सिंह वाहिनी की पूजा एवं अर्चना कुलदेवता श्री लोधेश्वर भगवान को साक्षी माना जाता है नव दुर्गा के अष्टमी पूजन अष्टछाप तलवार का पूजन किया जाता है लोधी क्षत्रिय की परंपरा निभाई जाती है राज दरबार में प्रजा को भोजन करवाया जाते हैं एवं वर्तमान समय में महाराजा संजीव सिंह को राजतिलक किया गया है और राजा की परंपरा निभाई जा रही है

Related Questions
Web Title : Kis Vansh Ne Orchha Ko Bundelkhand Ki Rajdhani Banaya Tha