किसका स्थगन गांधी-इरविन समझौते में किया जाना प्रस्तावित था?

(A) असहयोग आंदोलन
(B) खिलापफत आंदोलन
(C) गोलमेज आंदोलन
(D) सविनय अवज्ञा आंदोलन

Answer : सविनय अवज्ञा आंदोलन
Explanation : गांधी जी ने नमक कानून के प्रश्न पर 1930 में सविनय अवज्ञा आंदोलन चलाया। आंदोलन की सफलता से अंग्रेज सरकार घबरा गई लॉर्ड इरविन ने इससे निजात पाने के लिए, महात्मा गांधी को बातचीत के लिए किया और इसलिए वर्ष 1931 में महात्मा गांधी को जेल से रिहा कर दिया गया था। इस प्रकार, दोनों लोग महात्मा गांधी और इरविन ने अपनी-अपनी बात प्रस्तुत की और वर्ष 1931 में सहमति जताते हुए गांधी-इरविन समझौते पर हस्ताक्षर किए। इन दोनों नेताओं के बीच कुल आठ बैठकें हुईं थी और यह बैठकें 24 घंटे तक चलीं थी।
Tags : आधुनिक इतिहास, इतिहास प्रश्नोत्तरी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Kiska Sthagan Gandhi Iravin Samjhaute Me Kya Jana Prastavit Tha