लोकपाल का ध्येय वाक्य क्या है?

(A) ईशावास्य इदं सर्वं
(B) मा गृधः कस्यस्विद्धनम्
(C) यस्तु सर्वाणि भूतानि
(D) हिरण्मयेन पात्रेण सत्यस्यापिहितं मुखम्

lokpal
Answer : मा गृधः कस्यस्विद्धनम्
Explanation : लोकपाल का ध्येय वाक्य मा गृधः कस्यस्विद्धनम् है। यह ‘इशावस्या उपनिषद’ के एक श्लोक से लिया गया है जिसका अर्थ होता है- ‘किसी अन्य व्यक्ति की संपत्ति हासिल करने का लोभ न करें।’ आपको बता दे कि लोकपाल और लोकायुक्त कानून 2013 के तहत गठित लोकपाल एक संवैधानिक निकाय है। इसका गठन कुछ विशेष श्रेणियों के नौकरशाहों/पदाधिकारियों के खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की जाँच के लिये किया गया है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द ने 23 मार्च,2019 को लोकपाल के अध्यक्ष के रूप में न्यायमूर्ति पिनाकी चंद्र घोष को शपथ दिलाई थी। लोकपाल के अध्‍यक्ष न्‍यायमूर्ति पिनाकी चन्‍द्र घोष ने 26 नवम्बर 2019 को नई दिल्‍ली में एक समारोह में इसे जारी किया था।
Tags : करेंट अफेयर्स प्रश्नोत्तरी, लोकपाल
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Lokpal Ka Dhyey Vakya Kya Hai