महाराष्ट्र एवं कर्नाटक में पश्चिमी घाट क्या कहलाते है?

(A) नीलगिरि पर्वत
(B) सह्याद्रि (Sahyadri)
(C) दक्कखन पठार (Deccan Plataeu)
(D) इनमें से कोई नहीं

Answer : सह्याद्रि (Sahyadri)
Explanation : महाराष्ट्र एवं कर्नाटक में पश्चिमी घाट 'सह्याद्रि पर्वत' कहाते हैं। इनका विस्तार समुद्र तट के समानांतर महाराष्ट्र में ताप्ती की घाटी से दक्षिण में कुमारी अन्तरीप तक लगभग 1,600 किमी. लम्बाई में है। इनका सागरोन्मतुख या सागरोन्मुख ढाल बहुत तीव्र एवं पूर्व की ओर मन्द है। इसका सर्वोच्च शिखर डोडाबेट्टा (2,630 मी.) है। पूर्वी घाट एवं पश्चिमी घाट पर्वत के मिलन स्थल पर नीलगिरि की पहाड़ी स्थित है। नीलगिरि के दक्षिण में अन्नामलाई की पहाड़ी है। यह पहाड़ी सागवन के वनों के लिए प्रसिद्ध है। नीलगिरि की पहाड़ी एक ब्लाक पर्वत है। ऊटी नामक पर्यटन स्थल इसी पहाड़ी पर स्थित है। दक्कन का पठार लगभग 5 लाख वर्ग किमी. क्षेत्र में फैला हुआ है। यह बेसाल्ट निर्मित पठार है, जिसमें लावा की अधिकतम गहराई 2000 मी. तक पाई गयी है।
Tags : भूगोल प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Maharashtra Evam Karnataka Mein Pashchimi Ghat Kya Kehlata Hai