महाराष्ट्र के किस समाज सुधारक को लोकहितवादी कहते हैं?

(A) एम.जी. रानाडे
(B) गोपाल कृष्ण
(C) पंडित रामाबाई
(D) गोपाल हरि देशमुख

Answer : गोपाल हरि देशमुख (Gopal Hari Deshmukh)
Explanation : महाराष्ट्र के गोपाल हरि देशमुख समाज सुधारक को लोकहितवादी कहते हैं। गोपाल कृष्ण गोखले, न्यायाधीश रानाडे के शिष्य थे। वे रानाडे को अपना आध्यात्मिक और राजनीतिक गुरु मानते थे। 1905 में गोखले ने सर्वेन्ट ऑफ इंडिया सोसायटी की स्थापना की। जिसका उद्देश्य देश भक्त तैयार करना था। उनकी मृत्यु पर तिलक ने उन्हें भारत का हीरा, महाराष्ट्र का रत्न और देश सेवकों का राजा बतलाया। ब्रिटिश सरकार गोखले को एक छुपा हुआ राजद्रोही समझती थी। एम.जी. रानाडे को ‘महाराष्ट्र का सुकरात’ तथा ‘आधुनिक ऋषि’ कहा जाता था। रानाडे ने 1867 ई. में पूना में ‘पूना सार्वजनिक सभा’ की स्थापना की। जिसका उद्देश्य जनता में राजनीतिक चेतना को जागृत करना एवं महाराष्ट्र में समाज सुधार करना आदि था।
Tags : आधुनिक इतिहास, इतिहास प्रश्नोत्तरी, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Maharashtra Ke Kis Samaj Sudharak Ko Lokhitwadi Kahte Hain