मूल भौतिक राशि क्या होती है?

(A) दूसरी राशि की सहायता के परिभाषित किया जाता है
(B) परिभाषित नहीं किया जा सकता
(C) स्वतंत्र रूप से परिभाषित किया जाता है
(D) भौतिक राशियों के पदों में परिभाषित किया जाता है

Answer : स्वतंत्र रूप से परिभाषित किया जाता है
Explanation : मूल भौतिक राशियां वे हैं जिन्हें बिना किसी दूसरी राशि की सहायता के स्वतंत्र रूप से परिभाषित किया जाता है, जैसे– संहति (या द्रव्यमान) (mass), लंबाई (length), समय (time), आदि। संहति का लंबाई या समय से कोई संबंध नहीं है, अतः ये तीनों ही परस्पर स्वतंत्र हैं और मुल भौतिक राशियां हैं। इसी प्रकार, ताप (temperature), विद्युत् धारा (electric current), ज्योति-तीव्रता (Luminous intensity) आदि भी मूल भौतिक राशियां हैं। जबकि व्युत्पन्न भौतिक राशियां वे हैं जिन्हें मूल भौतिक राशियों के पदों में (in terms of) परिभाषित किया जाता है, जैसे—चाल एक व्युत्पन्न भौतिक राशि है, क्योंकि चाल = दूरी/समय = लंबाई/समय, अर्थात् चाल मूल राशियों लंबाई तथा समय के पदों में परिभाषित की जाती है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Mool Bhautik Rashi Kya Hoti Hai