मुदालियर आयोग की स्थापना कब हुई?

(A) सुरक्षा नीति
(B) माध्यमिक शिक्षा का स्तर ऊंचा उठाना
(C) केंद्र राज्य संबंध
(D) गृह नीति

Answer : 23 सितंबर 1952 को
Explanation : मुदालियर आयोग की स्थापना 23 सितंबर 1952 को हुई थी। भारत सरकार ने माध्यमिक शिक्षा की समीक्षा करने और उसका स्तर ऊंचा उठाने के लिए सुझाव देने के लिए ताराचंद्र समिति का निर्माण किया। इस समिति ने भी अपनी रिपोर्ट 1949 में प्रस्तुत की। इस रिपोर्ट के सुझाव पूर्ण नही थे एवं संतोषजनक भी नहीं थे जिस कारण केंद्रीय शिक्षा सलाहकार बोर्ड ने 1951 में केंद्रीय सरकार के सामने माध्यमिक शिक्षा आयोग की नियुक्ति का प्रस्ताव रखा। 1952 को मद्रास विश्वविद्यालय के तत्कालीन कुलपति डॉ० लक्ष्मण स्वामी मुदालियर की अध्यक्षता में "माध्यमिक शिक्षा आयोग" का गठन किया। इस आयोग को अध्यक्ष के नाम पर मुदालियर आयोग भी कहते हैं। मुदालियर आयोग ने प्राथमिक एवं विश्वविद्यालयी शिक्षा को ध्यान में रखते हुए माध्यमिक शिक्षा का एक नवीन स्वरूप प्रस्तुत किया जो निम्न है–
• 7 वर्षीय माध्यमिक शिक्षा।
• 4 या 5 वर्षीय प्राथमिक अथवा जूनियर बेसिक शिक्षा।
• माध्यमिक शिक्षा दो भागों में विभक्त होगी–
(i) 3 वर्षीय मिडिल अथवा सीनियर बेसिक स्तर अथवा जूनियर माध्यमिक।
(ii) 4 वर्षीय उच्चतर माध्यमिक शिक्षा।
• तत्पश्चात् 3 वर्षीय प्रथम डिग्री पाठ्यक्रम एवं 2 वर्षीय परास्नातक पाठ्यक्रम।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
Related Questions
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Web Title : Mudaliyar Aayog Ki Sthapna Kab Hui