मुगलकाल में नस्क क्या था?

(A) भू लगान निर्धारण की एक विधि
(B) भूमि के नाप की एक इकाई
(C) जमींदारी क्षेत्र
(D) कर रहित भूमि अनुदान

Question Asked : [RAS/RTS (Pre) Opt. History 2006]
Answer : भू लगान निर्धारण की एक विधि
मुगल काल में 'नस्ल' भू-राजस्व निर्धारण की एक विधि थी। इस प्रणाली के अंतर्गत किसान और सरकार का सीधा संबंध स्थापित किया जाता था। इसमें जमींदारों की आवश्यकता नहीं थी। किसानों को सरकार को सीधा लगान भेजने का प्रबंध था। यह प्रथा 'रैय्यतवाड़ी प्रथा' के समान थी। इस प्रणाली के अंतर्गत न तो भूमि की पैमाइश होती थी और न ही फसलों का सामाजिक विवरण ही तैयार किया जाता था। यह प्रणाली बंगाल, काठियावाड़, गुजरात एवं कश्मीर में प्रचलित थी। डॉ. आर पी त्रिपाठी के अनुसार – 'इसमें न तो भूमि की पैमाइश की जाती थी और न तो फसलों का वर्गीकरण किया जाता था, यह शासन तथा कृषक अथवा भू-स्वामी के मध्य मोटे अनुमान पर आधारित शुद्ध एवं सरल समझौता था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Mughal Kaal Mein Nask Kya Tha