‘मुझे गर्व महसूस होता है कि अपने देश की आजादी के लिए फांसी के तख्ते पर झूलने वाला मैं पहला मुस्लिम हूं।’ यह किस कहां था?

(A) अशफाक उल्ला खां का
(B) मौलाना अहमदुल्लाह शाह का
(C) मौलाना जफर अली खान
(D) पीर अली

Answer : अशफाक उल्ला खां का
Explanation : जब 19 दिसम्बर, 1927 को अशफाक उल्ला खां को फांसी दी गई वह पहले मुस्लिम थे जिनको काकोरी षड्यंत्र के मामले में फांसी दी गई थी। राष्ट्र के नाम अपने आखिरी संदेश में उन्होंने लिखा। 'मुझे गर्व महसूस होता है कि अपने देश की आजादी के लिए फांसी के तख्ते पर झूलने वाला में पहला मुस्लिम हूं।' अशफाक उल्ला खां का जन्म 22 अक्टूबर 1900 को उत्तर प्रदेश के शाहजहाँपुर में हुआ था। यह शफीकुर रहमान और मजहरुन्निशाँ के छह बच्चों में से सबसे छोटे थे। इनके पिता पुलिस विभाग में कार्यरत थे। जिस समय महात्मा गांधी ने असहयोग आंदोलन का नेतृत्व किया था तो उस समय अशफाक उल्ला खाँ एक स्कूल छात्र थे। लेकिन इस आंदोलन का अशफाक पर काफी प्रभाव पड़ा जिसने इन्हें स्वतंत्रता सेनानी बनने के लिए प्रेरित किया।
Tags : मध्यकालीन इतिहास
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Mujhe Garv Mehsoos Hota Hai Ki