नावों के लिए भारत का पहला सीएनजी स्टेशन कहां स्थापित किया जा रहा है?

(A) कानपुर
(B) आगरा
(C) वाराणसी
(D) इलाहाबाद

Answer : वाराणसी के खिड़किया घाट पर
Explanation : नावों के लिए भारत का पहला सीएनजी स्टेशन काशी के खिड़किया घाट पर स्थापित किया जा रहा है। पहले पायलट प्रोजेक्ट के रूप में गेल इंडिया लिमिटेड ने अस्थायी सीएनजी स्टेशन बनाया है, इसका उद्घाटन 27 फरवरी 2021 को केंद्रीय इस्पात मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने किया था। फिलहाल स्टेशन जल परिवहन विभाग की जेटी पर संचालित हो रहा है। अब गेल इंडिया खुद की जेटी भी तैयार करा रहा है। नावों का डीजल इंजन सीएनजी में बदलने के लिए नगर निगम को गेल सीएसआर फंड से धनराशि दे रहा है। अब तक 90 से अधिक नावें सीएनजी में बदली गई हैं। शेष नाव बदलने की प्रक्रिया चल रही है। सीएनजी से नाव चलने पर वायु व जल प्रदूषण रुकेगा। नाविकों को 50 फीसद से अधिक बचत होगी। डीजल से चलने के कारण नाइट्रोजन आक्साइड, सल्फर आक्साइड, एसपीएम (सस्पेंडेड पर्टिकुलेट मैटर) निकलता है। सीएनजी में ऐसे तत्वों का उत्सर्जन नहीं होता। इसलिए यह पर्यावरण संरक्षण में भी सहायक है।
Related Questions
Web Title : Navo Ke Liye Bharat Ka Pahla Cng Station Kaha Sthapit Kiya Ja Raha Hai