नायक समिति का संबंध किससे है?

(A) लघु उद्योगों को ऋणों की पर्याप्तता और समयबद्धता
(B) गोधरा कांड
(C) पंचायती राज संस्थाएँ
(D) बैंकिंग सुधार

Answer : लघु उद्योगों को ऋणों की पर्याप्तता और समयबद्धता
Explanation : नायक समिति का संबंध लघु उद्योगों को ऋणों की पर्याप्तता और समयबद्धता पर रिपोर्ट से है। भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा वर्ष 1991 में लघु उद्योगों को ऋणों की पर्याप्तता और समयबद्धता पर रिपोर्ट देने के लिए नायक समिति का गठन किया गया था। जिसने अपनी रिपोर्ट सितंबर, 1992 में प्रस्तुत की थी। नायक समिति ने पाया कि लघु उद्योग क्षेत्र अपने वार्षिक उत्पादन के 8.1 प्रतिशत तक कार्यशील पूंजी प्राप्त कर रहा है जो कि 20 प्रतिशत की मानकीय आवश्यकता से कम थी। तदनुसार नायक समिति ने अनुशंसा की कि लघु उद्योग क्षेत्र को कार्यशील पूंजी के रूप में अपने संभावित वार्षिक टर्नओवर का 20 प्रतिशत मिलना चाहिए। इनके आधार पर तथा साथ ही साथ नायक समिति की अनुशंसाओं के आधार पर भारतीय रिज़र्व बैंक ने संभावित वार्षिक टर्नओवर के 20 प्रतिशत तक कार्यशील पूंजी प्रदान करने, ऋण आवेदनों का समयबद्ध तरीके से निपटान करने तथा अधिक संख्या में लघु उद्योग वाले क्षेत्रों में लघु उद्योग ऋणों के लिए विशेषज्ञ शाखाएं खोलने संबंधी अनेक मार्गदर्शिकाएं बैंकों को जारी कीं। यह प्रति मान 5 करोड़ रुपये तक के वार्षि क टर्नओवर वाली इकाइयों पर लागू होगा।
Tags : भारत की महत्वपूर्ण समितियां
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Related Questions
Web Title : Nayak Samiti Ka Sambandh Kisse Hai