नीली क्रांति का संबंध किससे है?

(A) सरसों उत्पादन
(B) बागवानी उत्पादन
(C) मत्स्य उत्पादन
(D) मुर्गी-अंडा उत्पादन

Question Asked : राजस्थान तकनीकी प्रवक्ता परीक्षा 2021
Answer : मत्स्य उत्पादन
Explanation : नीली क्रांति का संबंध मत्स्य उत्पादन से है। नीली क्रांति या नील क्रांति किसानों की आय दुगुनी करने हेतु एक सहबद्ध कार्यक्रम के रूप में मछली तथा समुद्री उत्पादों को पकड़ने के कार्य को प्रोत्साहित करने के सरकारी प्रयासों का एक अंग है। दूसरे शब्दों में, एक पैकेज प्रोग्राम द्वारा मछली और समुद्री उत्पादों में तेज वृद्धि को नीली क्रांति कहा जाता है। यह नीली क्रांति पहले चीन में शुरू हुई जहां कि मछली पकड़ने का कार्य प्राचीनकाल से चला आ रहा है। भार यानी वजन की दृष्टि से विश्व भर में कुल मत्स्य उत्पादन के दो-तिहाई का उत्पादक चीन है और बाजार मूल्य की दृष्टि से उसका हिस्सा लगभग आधा है। भारत में इसकी शुरुआत सातवीं पंचवर्षीय योजना से हुई थी जो वर्ष 1985 से वर्ष 1990 के बीच कार्यान्वित की गई। इस दौरान सरकार ने फिश फार्मर्स डेवलपमेंट एजेंसी (FFDA) को प्रायोजित किया। आठवीं पंचवर्षीय योजना (वर्ष 1992 से वर्ष 1997) के दौरान सघन मरीन फिशरीज प्रोग्राम शुरू किया गया जिसमें बहुराष्ट्रीय कंपनियों से सहयोग को प्रोत्साहित किया गया। उत्पादन बढ़ाने साथ ही साथ प्रजातियों में सुधार के लिये बड़ी संख्या में अनुसंधान केंद्र भी स्थापित किये गए।
Related Questions
Web Title : Neeli Kranti Ka Sambandh Kisse Hai