निःश्वसन के समय डायफ्राम कैसा हो जाता है?

(A) समतलाकार
(B) गुंबदाकार
(C) अभिलंबीय
(D) तिर्यक

Answer : गुंबदाकार
Explanation : निःश्वसन के समय डायफ्राम गुंबदाकार हो जाता है। वक्षीय गुहा का निचला फर्श एक पतले पट द्वारा बंद रहता है, जिसे डायाफ्राम कहते हैं। यह वक्ष और उदय के बीच गुंबद के समान पेशीय सेप्टम है। निश्वसन के दौरान वायुमण्डल की वायु फेफड़ों में प्रवेश करती है। इससे फेफड़ों में वायुदाब कम होता है और डायाफ्राम की अरीय पेशियां सिकुड़ती है, जिससे डायाफ्राम चपटा हो जाता है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Nih Swasan Ke Samay Diaphragm Kaisa Ho Jata Hai