परमाणु नाभिक के अवयव क्या होते है?

(A) इलेक्ट्रॉन और प्रोटॉन
(B) इलेक्ट्रॉन और न्यूट्रॉन
(C) प्रोटॉन और न्यूट्रॉन
(D) प्रोटॉन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रॉन

Answer : प्रोटॉन और न्यूट्रॉन
Explanation : परमाणु नाभिक के अवयव प्रोटॉन और न्यूट्रॉन होते है। इलेक्ट्रॉन नामक मूलकण की खोज 1897 में थॉमसन ने की थी। इलेक्ट्रॉन ऋणावेशित कण होते हैं। परमाणु में नाभिक के चारों ओर चक्कर लगाते हैं। इन पर 1.6 x 10-19 कूलॉम का आवेश होता है। इसका द्रव्यमान 9.1 x 10-30 किग्रा. होता है। यह एक स्थायी मूल कण है। प्रोट्रॉन एक धनात्मक मूल कण है, जिसकी खोज 1919 में रदरफोर्ड ने की थी। इस पर इलेक्ट्रॉन के आवेश 1.6 x 10-19 कूलॉम के बराबर धनात्मक आवेश होता है, ये परमाणु के नाभिक में स्थित होते हैं। इनका द्रव्यमान 1.67 x 10-27 किग्रा. होता है। यह एक स्थायी मूलकण होता है। न्यूट्रॉन आवेश रहित मूलकण है। इसकी खोज 1932 ई. में चैडविक ने की थी। ये प्रोट्रॉन के साथ परमाणु के नाभिक में स्थित होते हैं। इनका द्रव्यमान प्रोट्रॉन के द्रव्यमान के लगभग बराबर होता है।
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Parmanu Nabhik Ke Avyav Kya Hota Hai