प्रच्छन्न बेरोजगारी का अर्थ क्या है?

(A) लोग बड़ी संख्या में बेरोजगार रहते हैं।
(B) वैकल्पिक रोजगार उपलब्ध नहीं हैं।
(C) श्रमिक की सीमांत उत्पादकता शून्य है।
(D) श्रमिकों की उत्पादकता नीची है।

Answer : श्रमिक की सीमांत उत्पादकता शून्य है।
Explanation : प्रच्छन्न बेरोजगारी का अर्थ होता है जहां श्रमिक की सीमांत उत्पादकता शून्य हो। प्रच्छन्न बेरोजगारी अर्थात छुपी हुई बेरोजगारी की वह स्थिति होती है, जब एक श्रमिक काम तो कर रहा होता है लेकिन उसकी क्षमता का पूरा उपयोग नहीं हो पाता है। ऐसी स्थिति में एक श्रमिक किसी खास काम में इसलिये लगा रहता है क्योंकि उसके पास उससे बेहतर करने को कुछ भी नहीं होता। शहरों में सेवा क्षेत्रों में हजारो अनियमत श्रमिक है जो दैनिक रोजगार की तलाश करते है। वे प्लंबर, पेंटर, मरम्मत कार्य जैसे रोजगार करते है। इनमें से कई रोजाना काम नहीं पाते हैं। ये यह काम इसलिए करते है क्योंकि इनके पास कोई बेहतर अवसर नहीं होता है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Related Questions
Web Title : Prachchhan Berojgari Ka Arth Kya Hai