राहुकाल में क्या नहीं करना चाहिए?

Answer : किसी भी प्रकार के शुभ कार्य
Explanation : राहु काल में किसी भी प्रकार के शुभ कार्य करने की मनाही होती है। इसके पीछे का तर्क यह है कि राहु को पापी ग्रह माना गया है। दिन में एक समय ऐसा आता है, जब राहु का प्रभाव काफी बढ़ जाता है और उस दौरान यदि कोई भी शुभ कार्य किया जाए तो उस पर राहु का प्रभाव पड़ता है। जिसके कारण या तो वह कार्य अशुभ हो जाता है या उसमें असफलता हाथ लगती है। राहुकाल में किए गए काम या तो पूर्ण ही नहीं होते या निष्फल हो जाते हैं। इसलिए राहुकाल में कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता। यदि कार्य का प्रारंभ राहुकाल के शुरू होने से पहले ही हो चुका है तो इसे करते रहना चाहिए, क्योंकि राहुकाल को केवल शुभ कार्य के प्रारंभ के लिए अशुभ माना गया है, पूर्ण करने के लिए नहीं।

राहु काल में क्या न करें: 1. राहु काल में यज्ञ, पूजा, पाठ आदि नहीं करते हैं, क्योंकि यह फलित नहीं होते हैं।
2. राहु काल में नए व्यवसाय का शुभारंभ भी नहीं करना चाहिए।
3. राहु काल में किसी महत्वपूर्ण कार्य के लिए यात्रा भी नहीं करते हैं।
4. राहु काल में खरीदी-बिक्री करने से भी बचना चाहिए क्योंकि इससे हानि भी हो सकती है।
5. राहु काल में शुरु किया गया कोई भी शुभ कार्य बिना बाधा के पूरा नहीं होता। इसलिए यह कार्य न करें।
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
Related Questions
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Web Title : Rahu Kaal Mein Kya Nahi Karna Chahiye