रक्षा अनुसंधान में करियर कैसे बनाये?

Answer : 12वीं के बाद कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग करें
रक्षा अनुसंधान में करियर: आजकल भारत में रक्षा क्षेत्र का दायरा तेजी से बढ़ रहा है। रक्षा प्रौद्योगिकी अनुसंधान में प्रगति के साथ देश के रक्षा बलों में अविश्वसनीय तेजी आई है। साथ ही, पिछले कुछ वर्षों में रक्षा सेवाओं में कॅरिअर के विभिन्न पहलूओं में वृद्धि देखी गई है। 12वीं के बाद कंप्यूटर साइंस इंजीनियरिंग (एआई, साइबर सुरक्षा, एथिकल हैकिंग, ब्लॉकचैन, इत्यादि), इलेक्ट्रॉनिक्स और कंप्यूटर इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग प्रौद्योगिकी, मैकेनिकल इंजीनियरिंग, असैनिक अभियंत्रण, अंतरिक्ष इंजीनियरिंग, रोबोटिक्स, नैनो-प्रौद्योगिकी, एरोनॉटिकल इंजीनिय रिंग, विद्युत अभियन्त्रण, मरीन इंजीनियरिंग इत्यादि से संबंधित क्षेत्रों में बी.ई./बीटेक धारक इंजीनियरिंग रक्षा सेवाओं में अपना भविष्य संवार सकते हैं। भारतीय रक्षा सेवाओं का हिस्सा होना न केवल सम्मानजनक और गौरवशाली है बल्कि पेशेवर उन्नति, आर्थिक स्थिरता, सेवानिवृत्ति के बाद के पेंशन और परिवार के लिए सविधाएं रक्षा सेवाओं में शामिल होने के कुछ लाभ हैं। खास बात यह है कि रक्षा सेवा में बने रहकर स्टडी लीव से आप एमटेक भी कर सकते हैं।
Related Questions
Web Title : Raksha Anusandhan Mein Career Kaise Banaye