रक्त एवं लौह की नीति का अवलंबन किसने किया था?

(A) ऐबक
(B) इल्तुतमिश
(C) बलबन
(D) अलाउद्दीन

Answer : सुभाष चन्द्र बोस
Explanation : रक्त एवं लौह की नीति का अवलंबन गयासुद्दीन बलबन ने किया था। वह गुलाम वंश का शासक था जिसने दिल्ली सल्तनत पर 1266 ई. से 1286 ई. तक शासन किया। शासन पद्धति को बलबन ने नवीन सांचे में ढाला और उसको मूलतः लौकिक बनाने का प्रयास किया। उसका कहना था कि 'सुल्तान का हृदय देवी अनुकम्पा की एक विशेष निधि है, इस कारण उसका अस्तित्व अद्वितीय है।' उसने 'सिजदा' एवं 'पैबोस' की परम्परा को लागू किया तथा फारसी त्यौहार 'नौरोज' को प्रारम्भ करवाया। उसकी शासन व्यवस्था को 'लौह एवं रक्त' की नीति कहकर सम्बोधित किया जाता है।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2021 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Rakt And Loh Ki Niti Ka Avalamban Kisne Kiya Tha