रामानुजन ने किस मार्ग को प्रोत्साहित किया?

(A) ज्ञान मार्ग
(B) भक्ति मार्ग
(C) योगामार्ग
(D) कोई नहीं

Question Asked : [IAS (Pre) Opt. History 1990]
Answer : भक्ति मार्ग
रामानुज ने भक्ति मार्ग का प्रतिपादन किया। उन्होंने विशिष्टा द्वैतवाद का प्रतिपादन किया जिसके अनुसार संसार चित् तथा अचित् तत्वों से मिलकर बना है ईश्वर इससे वि​शिष्ट है उसकी भक्ति भाव (प्रपत्ति भाव) से आराधना करने पर मोक्ष प्राप्त हो सकता है। बतादें कि इस प्रकार के प्राचीन एवं मध्यकालीन भारतीय इतिहास से सं​बंधित प्रश्न अक्सर पूछे जाते है। जिसके उत्तरों भी कभी नहीं बदलते है। इसलिए अगर आप संघ एवं राज्य सिविल सेवा या राज्यस्तरीय किसी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है, तो इन्हें अच्छी तरह से याद कर लें। ताकि गलती की कोई संभावना न रहें।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Ramanujan Ne Kis Marg Ko Protsahit Kiya