संगम साहित्य में किस राजवंश का उल्लेख नहीं हुआ है?

(A) कदम्ब
(B) चेर
(C) चोल
(D) पाण्ड्य

Answer : कदम्ब
Explanation : संगम साहित्य में तत्कालीन तीन राजवंशों-चेर, चोल, पाण्ड्य के विषय में विस्तृत जानकारी मिलती है। चेर राजवंश-ऐतरेय ब्राह्ण में प्राप्त होने वाला उल्लेख चेरपाद, सम्भवतः चेरों के विषय में प्रथम जानकारी है। इसके अतिरिक्त रामायण, महाभारत, अशोक के शिलालेख, कालिदास के रघुवंश महाकाव्य एवं संगम साहित्य से चेर के बारे में जानकारी प्राप्त होती है। चेरों का राजकीय चिन्ह धनुष था। चोल वंश-चोलों के विषय में प्रथम जानकारी पाणिनि कृत अष्टाय्यायी से मिलती है। इस विषय में जानकारी के अन्य स्त्रोत-कात्यायन कृत वार्तिक, महाभारत एवं संगम साहित्य साहित्य आदि हैं। कालान्तर में उरैपुर तथा तंजावुर चोलों की राजधानी बनी। चोलों का शासकीय चिन्ह बाघ था। पांड्य वंश-इसका प्रारम्भिक उल्लेख अष्टाय्यायी में मिलता है। इसके अतिरिक्त अशोक के अभिलेख, महाभारत एवं रामायण में भी पांड्य राज्य के विषय में जानकारी मिलती है। पांड्य की राजधानी मदुरा थी। पाण्ड्य का राज चिन्ह मछली था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन भारत प्रश्नोत्तरी
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Sangam Sahitya Mein Kis Rajvansh Ka Ullekh Nahi Hua Hai