सेब का लाल रंग किसके कारण होता है?

(A) एंथोसाइएनिन
(B) कैप्सेनथिन
(C) क्यूरेस्टीन क्वेरसिटीन
(D) डाइएलाइल डाइ प्रोपाइलसल्फाइड

Answer : एंथोसाइएनिन
Explanation : सेब का लाल रंग एंथोसाइएनिन के कारण होता है। एंथोसाइएनिन पौधों में पाए जाने वाले लाल-बैंगनी-नीले फ्लेवोनोइड वर्णक को संदर्भित करता है। यह एक पानी में घुलनशील अणु है। इसकी मूल कोर संरचना एक फ्लेवियम आयन है। यह पौधों की संरचनाओं की बाहरी परत में पाया जा सकता है जैसे कि फल, फूल, पत्ते, तने और जड़ें। अंगूर, अकाई, ब्लूबेरी, बिलबेरी, ब्लैकक्रूरेंट, चेरी और पर्पल कॉर्न ऐसे फल हैं जिनमें एंथोसाइनिन की मात्रा अधिक होती है।
Useful for : UPSC, State PSC, IBPS, SSC, Railway, NDA, Police Exams
Related Questions
नवीनतम करेंट अफेयर्सजीके 2021 के लिए GKPU फ़ेसबुक पेज को Like करें
Web Title : Seb Ka Lal Rang Kiske Karan Hota Hai