शिवाजी के शासनकाल में विदेश मंत्री को कहा जाता था?

(A) सुमन्त
(B) अमात्य
(C) सर-ए-नौबत
(D) सचिव

Question Asked : [MPPSC (Pre) Opt. History 2014]
Answer : सुमन्त
शिवाजी ने प्रशासन में सहयोग के लिए 8 पदाधिकारियों की एक समिति बनाई थी। जिसमें पेशवा, अमात्य, सचिव, सुमंत, सेनापति, पण्डितराव एवं न्यायाधीश थे। जिसमें पेशवा (प्रधान) का कार्य राजा की अनुपस्थित मे प्रशासन की देख-रेख करना था एवं सुमंत या दबीर का कार्य विदेशों के मामलों को देखना था। वह आधुनिक विदेश मंत्री की तरह था।
Tags : इतिहास प्रश्नोत्तरी, प्राचीन काल भारत, मध्यकालीन भारत
Useful for : UPSC, State PSC, SSC, Railway, NTSE, TET, BEd, Sub-inspector Exams
करेंट अफेयर्सजीके 2022 अपडेट के लिए टेलीग्राम और YouTube चैनल पर सब्सक्राइब करें
Related Questions
Web Title : Shivaji Ke Shasan Kal Mein Videsh Mantri Ko Kaha Jata Tha